Page 1
aakhya-2
Standard

INNOVATIVE PROJECT SAUNI TO END FARMER WOES

PM Narendra Modi inaugurating first phase of SAUNI project in Jamnagar.

Farmers in the parched land of Saurashtra have been at the receiving end for decades. Draught after draught have forced people to move away from agriculture and look towards other sources for their survival, but the innovative ‘Saurashtra Narmada Avatarana Irrigation Yojana’ has come as boon for the farmers in the region.  Gopal Bhai Patel, 52, a resident of Bagthala village in Morbi district of Saurashtra, says, “We have faced drought for decades, and this SAUNI project pipeline is a boon for us.” He has about 40 bighas of … Read More

aakhya-1
Standard

जलमार्ग परिवहन – सस्ता, प्रदूषण रहित और सुगम

12 अगस्त 2016 का दिन एक ऐतिहासिक क्षण था, जब सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने ‘मारूति सुजुकी इंडिया’ की कारों की पहली खेप को जलमार्ग के जरिए वाराणसी से कोलकाता के लिए झंडी दिखाकर रवाना किया। इस प्रकार भारत में जल-मार्गों के एक नए युग का आरंभ हुआ।

इसके लिए ‘मारूति सुजुकी इंडिया लिमिटेड’ ने IWAI (Inland Waterways Autority Of India) के साथ एक MoU पर पहले ही हस्ताक्षर किए थे, जिससे Inland Vessels के माध्यम से कारों का ट्रांसपोर्टेशन किया जा सके।

दरअसल प्राचीन काल से लेकर अब तक सभी सभ्यताओं का विकास जल-स्रोतों के इर्द-गिर्द ही … Read More

Standard

सातवां वेतन आयोग और अर्थव्यवस्था

सातवें वेतन आयोग को लागू करने की मंजूरी देकर सरकार ने अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की दिशा में एक महत्त्वपूर्ण कदम उठाया है। दुनिया भर में चल रही आर्थिक मंदी के बीच भारत की अर्थव्यवस्था सुचारु रूप से चलते हुए फल–फूल ही नहीं रही है बल्कि दूसरे देशों को भी विकास का हौसला दे रही है। यही कारण है कि सरकार विदेशी निवेशकों को आकर्षित कर पाने में कामयाब रही है। प्रधानमंत्री मोदी के ‘मेक इन इंडिया‘ और ‘स्टार्ट–अप इंडिया‘ जैसे महत्त्वाकांक्षी लक्ष्यों को पाने के लिए अर्थव्यवस्था का स्वस्थ और सुदृढ़ रूप से कार्य करते रहना बेहद ज़रूरी है।… Read More

Standard

आम आदमी के अच्छे दिन : सस्ती, सुंदर और टिकाऊ उड़ान

प्राचीन काल से एक कहावत चली आ रही है कि “जो होता है अच्छे के लिए होता है।” लेकिन 21वीं सदी में होने के कारण हमारी ज़िम्मेदारी बनती है कि किसी के कहने पर न जाएं और हर बात को क्रॉस चैक करें।

सरकार के द्वारा हाल ही में सिविल एविएशन पॉलिसी को लाया गया है। देश आज़ाद होने के बाद पहली बार ऐसा हुआ है कि मंत्रालय सिविल एविएशन पॉलिसी को लेकर आया है।

एयरलाइन इंडस्ट्री घाटे में चल रही है, ऐसी खबरें तो आए दिन अखबारों में पढ़ने को मिलती हैं। किसी भी सरकार के द्वारा इस परेशानी … Read More

Standard

NSG मसले पर ‘समर्थन और विरोध’- भारत के ‘अभूतपूर्व प्रभाव’ के प्रतीक

भारत ने वर्ष 1974 में शांतिपूर्ण परमाणु परीक्षण किए, पूरी दुनिया में खलबली मच गई। इसकी एक बड़ी प्रतिक्रिया हुई, फलस्वरूप NSG अस्तित्व में आया। अब समय बदल चुका है। प्रधानमंत्री मोदी ने इसकी सदस्यता के लिए दावेदारी कर दी, और पूरी दुनिया में एक बार फिर से भारत के इस कदम से हलचल बढ़ गई।

NSG की सदस्यता का मिलना या न मिलना उतना मायने नहीं रखता है, जितना यह कि एक देश के तौर पर भारत आज उस स्थिति में है, जहां पर वो दुनिया की महतत्वपूर्ण ताकतों के सामने खड़ा है, और उन्हें चुनौती पेश कर रहा … Read More